यानी पेट के बल लेट कर धीरे-धीरे हाथों के बल ऊपर को उठना और सिर को उठाना जैसे कोबरा बैठा हो। यह मुद्रा न सिर्फ आपको आराम दिलाती है बल्कि दिमाग से जुड़ी नसों को भी संतुलित और प्रेरित करती है।

 

Dainik Tribune